Gulzar Shayari

Gulzar Shayari In Hindi

Hello Friends Today i am share Gulzar Shayari In Hindi, Gulzar Quotes, Gulzar Poetry .You will like it very much.

I have brought good gulzar shayari for you , hope you like it very much

Gulzar Shayar. You used facebook, twitter, instagram,pinterest, snapchat, whatsapps etc.You share friends, boyfriend, girlfriend, husband, wife, familay, etc.

 

Gulzar Shayari

हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में
रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया

Gulzar Shayari

जब भी ये दिल उदास होता है
जाने कौन आस-पास होता 

Gulzar Shayari

आप के बाद हर घड़ी हम ने
आप के साथ ही गुज़ारी है

Gulzar Shayariकुछ🤏 ऐसे हो गए है✧ इस दौर के रिश्ते👨‍👨‍👧‍👧¸
आवाज अगर 👉तुम ना दो तो बोलते वह भी ❌नही।

Gulzar Shayari

गुलाम  थे तो हम सब 🇮🇳हिंदुस्तानी थे¸
आजादी ने हमें 🕉️हिंदू मुसलमान☪️ बना दिया।Gulzar Shayari

🤫चुप हो तो पत्थर🧱 ना समझना 👉🏻मुझे¸
💖दिल पर असर हुआ है✧¸ किसी अपने की बात का।

Gulzar Shayari

👉🏼तुझसे कोई शिकवा शिकायत ❌नही है✧
जिंदगी तूने जो भी दिया है✧ वही बहुत है✧।

Gulzar Shayari

वह चीज जिसे 💖दिल कहते है✧
हम भूल गए है✧ रखकर कहीं।

Gulzar Shayari

👉तेरी तरह 💔बेवफा निकले 👉मेरे घर🏡🏡 के ⚪️आईने भी¸
खुद को देखूं 👉तेरी तस्वीर नजर👀 आती है✧।

Gulzar Shayari

कैसे गुजर रही है✧¸ सब पूछते है✧❓✧¸
कैसे गुजारता हूं❓ कोई ❌नही पूछता ।

Gulzar Shayari

फासला बढ़ा लिया 👉तुमने¸
मैंने👈 दीवार पक्की कर ली¸
जरा सी गलतफहमी  ने 👁‍🗨देखो
कितनी तरक्की कर ली।

Gulzar Shayari

अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं

Gulzar Sahab

किसी पर मर जाने से होती हैं मोहब्बत,
इश्क जिंदा लोगों के बस का नहीं

Gulzar Sahab

शोर की तो उम्र होती हैं
ख़ामोशी तो सदाबहार होती हैं

Gulzar Sahab

Gulzar Shayari

 

 

Gulzar Shayari

बहुत मुश्किल से करता हूँ,
तेरी यादों का कारोबार,
मुनाफा कम है,
पर गुज़ारा हो ही जाता है

Gulzar Sahab

Gulzar Shayari

बहुत अंदर तक जला देती है,
वो शिकायतें जो बयाँ नही होती

Gulzar Sahab

Gulzar Shayari

मैंने दबी आवाज़ में पूछा – “मुहब्बत करने लगी हो?”
नज़रें झुका कर वो बोली – “बहुत

Gulzar Sahab

Gulzar Shayari

ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं
ना पास रहने से जुड़ जाते हैं
यह तो एहसास के पक्के धागे हैं
जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं

Gulzar Sahab

Gulzar Shayari

अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं

Gulzar Sahab

Author: Naresh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *